जबलपुर कटंगा:संस्था के 80वी वर्षगाँठ में सम्मिलित हुए भ्राता अनन्त गीते जी, केंद्रीय मंत्री

Brahmakuamris

मानवीय मूल्यों पर ही आधारित है भारतीय संस्कृति – अनंत गीते 

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के शिव वरदान भवन कटंगा कॉलोनी  सेवा केंद्र में संस्था के अस्सीवे स्थापना दिवस के उपलक्ष में परिचर्चा मानवीय मूल्य एवं विश्व शान्ति का आयोजन 

मूल्य हमारी संस्कृति के हर पहलू में शामिल रहे आये है , सुबह उठने से ले कर रात को सोने तक और जन्म से ले कर के मृत्यु तक हर कर्म के लिए मूल्य आधारित जीवन की परम्परा रही आई है किन्तु कुछ समय से समाज में मानवीय मूल्यों का जो क्षरण दिख रहा है उसको थामने और मूल्य निष्ठ समाज कि स्थापना के लिए ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन बहुत बहुत जरुरी है – उक्त उदगार केंद्रीय मंत्री (भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उद्यम) अनन्त गीते जी ने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की 80वी वर्षगाँठ पर आयोजित परिचर्चा “ मानवीय मूल्य एवं विश्व शान्ति” के मुख्य अतिथि के रूप में व्यक्त किये. 

इस अवसर पर अपने दिव्य उदबोधन में बी के विमला दीदी ने कहा कि – विश्व में शान्ति की स्थापना करने के लिए हर मनुष्य को अपने अंदर में शान्ति कि अनुभूति करनी होगी,अपने अन्तर में शान्ति लाने से ही समाज में और फिर राष्ट्र में और फिर पूरे विश्व में शान्ति स्थापित हो पाएगी . मूल्यों कि आवश्यकता आज के सामाजिक ताने बाने में आये हुए उलझनों और तनावो को दूर करने के लिए बहुत आवश्यक है. 

इस कार्यक्रम में  मध्यप्रदेश शिव सेना अध्यक्ष भ्राता ठाड़ेश्वर महावर जी और जबलपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व उप अध्यक्ष भ्राता मधु चौधरी जी ने भी अपनी शुभ कामनाये प्रदान करी .

जबलपुर कटंगा कॉलोनी — 80वी वर्षगाँठ पर आयोजित कार्यक्रम  “ मानवीय मूल्य एवं विश्व शान्ति” में सम्मिलित हुए  भ्राता अनन्त गीते जी केंद्रीय मंत्री (भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उद्यम), मध्यप्रदेश शिव सेना अध्यक्ष भ्राता ठाड़ेश्वर महावर जी,  मध्यप्रदेश शिव सेना अध्यक्ष भ्राता ठाड़ेश्वर महावर जी और  सेवा केंद्र प्रभारी बी के विमला बहन जी ।